Avic Spirulina


स्पिरुलिना का मुख्य स्त्रोत- यह प्राकृतिक झीलों एवं झरनो में पाया जाता है| जिसमे बीटा केरोटीन, ओमेगा 3 फेट्टी एसिड एवं क्लोरोफिल प्रचुर मात्रा में होता है जिसके फलस्वरूप यह शरीर में उन सभी पोषक तत्वों की पूर्ति करता हे जिनकी कमी से कुपोषण जैसी भयावह बीमारी होती है, स्पिरुलिना का सेवन करते हुए कोई व्यक्ति बिना भोजन के महीनो जीवित रह सकता है जिसकी वजह से स्पिरुलिना को सुपर फूड भी कहा जाता है|

आज भी हमारे देश(भारत) में कुपोषण के 10 लाख से ज्यादा मामले प्रति वर्ष आते है| यह एक ऐसी बीमारी हे जिससे लगभग 2 वर्ष से लेकर 12 वर्ष तक के बच्चे पीड़ित होते है, जिसमे बच्चों की हड्डियाँ एवं माँसपेशियाँ गलने लगती है, मानसिक कमज़ोरी के साथ-साथ शारीरिक वृद्धि भी रुक जाती है जिसके कारण इनमे से अधिकतम बच्चे या तो शारिरिक मानसिक विकलांगता के शिकार हो जाते हे या 2 से 12 वर्ष की उम्र के बिच ही मृत्यु तक हो जाती है| इस प्रकार हम स्पिरुलिना के सेवन से देश को बचा सकते हे साथ ही स्पिरुलिना को एविक लेकर आया है आयुर्वेद की सबसे उत्तम औषधि त्रिफला एवं त्रिकटु के साथ जिसके फल स्वरुप शरीर में पर्याप्त पोषक तत्वों की पूर्ति के साथ-साथ कई अन्य जटिल बीमारियों जैसे- आँखों से सम्बंधित बीमारिया (दॄष्टि दोष, मोतियबिंद, कालापानी, इत्यादि), पाचन विकार, निःसंतानता, महिला-पुरुष में योन दुर्बलता, दमा, श्वांस, नजला, निमोनिया, यहाँ तक की फ्लू एवं स्वाइनफ्लू जैसी जान लेवा बीमारियों से भी बचाता है.

कंटैन्स- स्पिरुलिना - 450 mg, त्रिफला - 30 mg, त्रिकटु - 20 mg


उपयोग विधि- 1-2 कैप्सूल प्रतिदिन|

 

नोट- गर्भवती महिला एवं 1 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को ना दे तथा ऑटो इम्यून डीसीज जैसे सोरिएसिस, चिकनपॉक्स इत्यादि में उपयोग ना करे|




Rs.900 Rs. 780
B.V. - 350
Category: Clothing